आरजेएस की 89 वीं बैठक”गुरू पूर्णिमा” सिलीगुड़ी में ड्रैगन फ्रुट के किसानों के साथ संपन्न

पूर्वी हिमालय क्षेत्र विशेषकर दार्जिलिंग हिमालय तराई में पिछले कई सालों से ड्रैगन फ्रूट की पैदावार और मांग लगातार बढ़ती जा रही है।गुरू पूर्णिमा के उपलक्ष्य में रविवार 14 जुलाई 2019को सिलीगुड़ी में ड्रैगन फ्रूट फेस्टिवल का आयोजन मैंगो ट्री विलेज हॉट में किया गया। राष्ट्रीय संयोजक उदय कुमार मन्ना के नेतृत्व में चल रहे सकारात्मक भारत मिशन के अंतर्गत पत्रकार अरूण कुमार ने आरजेएस की 89 वीं सकारात्मक बैठक, ड्रैगन फ्रूट फेस्टिवल में भाग ले रहे  किसानों के साथ की । 

भारत के 22 राज्यों में राम-जानकी संस्थान,नई दिल्ली द्वारा सकारात्मक बैठकों और सकारात्मक पत्रकारिता से भारत निर्माण की कोशिश में पत्रकार व समाजसेवी जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं।89वीं बैठक की शुरुआत  ज्ञान देनेवाले गुरूओं को नमन करते हुए, स्वतंत्रता सेनानी रासबिहारी बोस, बादल सेन और प्रमुख नेपाली कवि साहित्यकार और नेपाल में रामायण के रचनाकार भानु भक्त आचार्य को स्मरण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए एडिशनल डायरेक्टर कृषि ,पश्चिम बंगाल डॉक्टर महफूज अहमद ने कहा कि ड्रैगन फ्रूट कैंसर रोधी होता है और इसमें कई विटामिन होते हैं। इससे कई तरह की चीजें जैसे केक ,पेस्ट्री ,जैम ,जेली और सॉस आदि तैयार किया जाता है। ये किसानों के आर्थिक विकास में योगदान देनेवाला फल है।वहीं ड्रैगन फ्रूट फेस्टिवल में भाग ले रही एक महिला किसान ने कहा कि ड्रैगन फ्रूट को हाथी नुकसान नहीं पहुंचाता है, इसलिए इसकी खेती करना सुरक्षित है। बैठक में संजीव नखत, महिला उद्यमी महिला किसान चंद्रा दास, भूमिका छेत्री ,आईवी मुखर्जी प्रमुख ने अपने अपने सकारात्मक विचार व्यक्त किए।सबने आरजेएस के सकारात्मक भारत मिशन की सराहना की। आयोजक पत्रकार अरूण कुमार ने कहा कि दिल्ली में टीम आरजेएस फैमिली देश को एक सकारात्मक भारत दिवस 24जुलाई‌ को अर्पित करेगी । 

Leave a Reply