Category: Articles

दलित हरिजन नहीं हैं !

हमारा देश एक ऐसा देश है जहां ना जाने कितने ही प्रकार की विभिन्ताएँ हैं – धर्मों की, जातियों की, भाषाओं की, क्षेत्रों की, पहरावे की, रहन सहन की और खाने पीने …

याद आता है वह अपना प्रिय गुरु -राष्ट्रपति भवन स्कूल

रईस सिद्दीक़ी   पूर्व भाषा अध्यापक, राष्ट्रपति भवन स्कूल नई दिल्ली पूर्व भ.प्र ,से.,केंद्र निदेशक   आकाशवाणी भोपाल    साहित्य अकादेमी पुरस्कार-2018 से पुरस्कृत  मेरे लये यह भावात्मक सुनहरा अवसर है कि  मैं अपने उन दिनों …

आज़ादी की तड़प !

पिन्जरे की चिड़िया को लाख समझायो , कि पिन्जरे के बाहर भी धरती बहुत बड़ी है , दयालु है और वहाँ उसे अपने ही जिस्म की दुरगंध भी नहीं …

देश का विकास केवल मोदी ही नहीं जनता का भी दायित्व है

योगेश मोहनजी गुप्ताकुलपति-आईआईएमटी विश्वविद्यालय-मेरठ भारत विगत 71 वर्षों से लगातार विकासशील देशों की श्रेणी में अग्रणी होने का प्रयास करता रहा है परन्तु अब तक विकसित नहीं हो पाया …

समाज एवं देश को मजबूत करने के लिए योग- अपनाएं इसे राजनैतिक एवं धार्मिक अखाडा न बनाएँ

 एस.एस.डोगरा सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया।  सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चित् दुःखभाग् भवेत्।। संस्कृत के उपरोक्त श्लोक का हिंदी में अर्थ है कि सभी सुखी होवें, सभी रोगमुक्त …

पत्रकारिता – एक दौर ऐसा भी..

बात उस दौर की है  जब समाज में व्याप्त अंधविश्वास और कुरीतियां चरम पर थी। ब्रतानियां हुकूमत की लाठियां हिन्दुस्तानियों पर कहर बनकर टूट रही थी। बहु-बेटियों की अस्मत …

आज का वोटर

बानो  आज सुबह भी देर से आई। समीना बड़ बड़ाते  हुए बोलीं  -क्या बात है, आज कल  तुम दो- तीन महीने से जब दिल चाहता है , लेट हो जाती …